Ncert class 10 science solution in hindi chapter 10

Ncert class 10 science solution in hindi chapter 10  :- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में मैं आप सभी के लिए लेकर आया हूँ विज्ञान का प्रश्न-हल अगर आप दसवी में पढ़ते हैं और आप विज्ञान के प्रश्न हल को देखना चाहते हैं तो यह आपके लिए बहुत ही बढ़िया है | इस आर्टिकल में मैंने आपके लिए Ncert class 10 science solution in hindi chapter 10 लेकर आया हूँ तो अगर आप इसे देखना चाहते हैं तो आप निचे इन  सभी प्रश्नों को देखने और नोट्स तैयार कीजिये ताकि आप अपने एग्जाम में अच्छा अंक ला सके Ncert class 10 science solution in hindi chapter 10  :- 



1). प्रकाश किरण किसे कहते हैं ?
x
Ans.  दीप्त वस्तु से प्रकाश निकलकर जिस रेखा पर गमन करता है उसी रेखा को प्रकाश की किरण कहते हैं |
2).  प्रकाश का परावर्तन किसे कहते हैं ?
Ans.  किसी चिकने चमकीले सतह से प्रकाश की किरणों के टकराकर वापस लौटने की घटना को प्रकाश का परावर्तन कहते हैं | 

3).  प्रकाश के परावर्तन के नियमों को लिखें |
Ans.  प्रकाश के परावर्तन के निम्नलिखित 2 नियम हैं :-
     i).  आपतित किरण,  परावर्तित किरण  तथा आपतन बिंदु पर डाला गया अभिलंब तीनों एक ही तल में होते हैं |
     ii).  आपतन कोण,  परावर्तन कोण के सदैव बराबर होता है |

4). प्रकाश का विवर्तन क्या है ?
Ans.  यदि प्रकाश के पथ में रखी अपारदर्शी वस्तु अत्यंत छोटी हो तो प्रकाश सरल रेखा में चलने के बजाय इसके किनारों पर मुड़ने की प्रवृत्ति दर्शाता है इस प्रभाव को प्रकाश का विवर्तन कहते हैं |


5).  समतल दर्पण में प्रतिबिंब की क्या विशेषताएं हैं ?
 Ansसमतल दर्पण में प्रतिबिंब की निम्नलिखित विशेषताएं हैं:-
     i).  प्रतिबिंब सदैव आभासी तथा सीधा होता है |
     ii).  प्रतिबिंब का आकार बिम्ब के आकार के बराबर होता है |
     iii).  प्रतिबिंब दर्पण के पीछे उतना ही दूरी पर बनता है जितनी दूरी पर दर्पण के सामने बिम्ब रखा होता है |

6).  प्रतिबिंब से क्या समझते हैं ?
Ans.  किसी बिंदु स्रोत से निकली हुई प्रकाश की किरणें परावर्तन तथा अपवर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती है या मिलती हुई प्रतीत होती है उसे प्रतिबिंब कहते हैं |

7).  वास्तविक एवं आभासी प्रतिबिंब में अंतर बताएं |
Ans.  वास्तविक एवं आभासी प्रतिबिंब में निम्नलिखित अंतर है : -
वास्तविक प्रतिबिंब :-
i).  किसी बिंदु स्रोत से निकली हुई किरण पुंज परावर्तन या अपवर्तन के बाद जिस बिंदु पर मिलती है उसे वास्तविक प्रतिबिंब कहते हैं |
ii).  इसे पर्दे पर उतारा जा सकता है |
iii).  यह हमेशा उल्टा होता है |
 आभासी प्रतिबिंब :-
i).  किसी बिंदु स्रोत से निकली हुई किरण पुंज परावर्तन अपवर्तन के बाद जिस बिंदु से  मिलती हुई प्रतीत होती है उसे आभासी प्रतिबिंब कहते हैं
ii). इसे पर्दे पर उतारा नहीं जा सकता है |
iii).  यह हमेशा सीधा होता है |

8).  गोलीय दर्पण किसे कहते हैं ?
Ans.  ऐसे दर्पण जिनका परावर्तक पृष्ठ गोलीय  है गोलीय दर्पण कहलाते हैं |

9).  अवतल दर्पण किसे कहते हैं ?
Ans.  वह गोलीय दर्पण जिसका परावर्तक पृष्ठ अंदर की ओर अर्थात गोले के केंद्र की ओर धसा रहता हैउसे अवतल दर्पण कहते हैं |

10).  उत्तल दर्पण किसे कहते हैं ?
Ans.  वह गोलीय दर्पण जिसका परावर्तक पृष्ठ बाहर की ओर उभरा होउसे उत्तल दर्पण कहते हैं |


11).  अवतल दर्पण तथा उत्तल दर्पण में अंतर बताएं |
Ans.  अवतल दर्पण तथा उत्तल दर्पण में निम्नलिखित अंतर हैं :-

अवतल दर्पण :-
     i).  इसमें परावर्तक सतह धंसी होती है |
     ii).  इसके ऊपरी भाग पर पोलिश किया  रहता है |
     iii).  इसमें वास्तविक एवं काल्पनिक दोनों प्रतिबिंब बनते हैं

 उत्तल दर्पण :-
     i).  इसमें परावर्तक सतह उभरी होती है |
     ii).  इसमें धंसे भाग पर पॉलिश किया रहता है |
     iii).  इसमें हमेशा काल्पनिक प्रतिबिंब बनते हैं |

12). वक्रता केंद्र एवं वक्रता त्रिज्या किसे कहते हैं ?
Ans.  गोलीय दर्पण का परावर्तक पृष्ठ की एक गोले का भाग है |  इस गोले का केंद्र ही गोलीय दर्पण की वक्रता केंद्र कहलाता है |

13). अवतल दर्पण के तिन उपयोग को लिखे |
Ans.  अवतल दर्पण के निम्नलिखित दो उपयोग हैं :-
     i).  सोलर कुकर में,
     ii).  मोटर कार के हेडलाइट में |
     iii). सौर भट्टी में

14).  उत्तल दर्पण के तिन उपयोग लिखे |
Ans.  उत्तल दर्पण के निम्नलिखित दो उपयोग हैं :-
     i).  मोटर गाड़ियों में साइड मिरर के रूप में |
     ii).  सड़कों में बल्ब के ऊपर   परावर्तक के रूप में |
     iii). इसका उपयोग टेलिस्कोप में किया जाता है |

आप देख रहे हैं Ncert class 10 science solution in hindi chapter 10

15).  सोलर कुकर में अवतल दर्पण का उपयोग क्यों किया जाता है ?
Ans.  अवतल दर्पण सूर्य से आने वाली प्रकाश की समांतर किरणों को तथा उन  किरणों के साथ आने वाले उष्मीय विकिरण को अपने फोकस पर समिलित  करता है इसलिए सोलर कुकर में अवतल  दर्पण का उपयोग किया जाता है |



16). दर्पण की पहचान प्रतिबिंब देखकर किस प्रकार से की जाती है ?
Ans. 
i). समतल दर्पण :-  यदि दर्पण में बना प्रतिबिंब हमेशा सीधा आकार में वस्तु के बराबर है तो दर्पण समतल है |

ii).  अवतल दर्पण :-  यदि वस्तु को धीरे धीरे दर्पण के नजदीक ले जाने पर सीधा और बड़ा प्रतिबिंब बनता है तो दर्पण अवतल है |

iii).  उत्तल दर्पण :-  यदि दर्पण के सामने की वस्तु की किसी भी स्थिति के लिए प्रतिबिंब हमेशा सीधा और छोटा बनता है तो दर्पण उत्तल है |

17). हम वाहनों में  उत्तल दर्पण को पश्च - दृश्य  दर्पण के रूप में वरीयता क्यों देते हैं ?
Ans.  उत्तल दर्पण हमेशा किसी वस्तु का सीधा प्रतिबिंब बनाता है तथा इसका दृष्टि क्षेत्र विस्तृत होता है अतः उत्तल दर्पण ड्राइवर को अपने पीछे के बहुत बड़े क्षेत्र को देखने में आसान होता है इसलिए उत्तल दर्पण का उपयोग साइड मिरर के रूप में किया जाता है |

18). प्रकाश का अपवर्तन क्या है ?  प्रकाश के अपवर्तन के नियम को लिखे |
Ans.  जब प्रकाश एक माध्यम से दूसरे माध्यम में प्रवेश करता है तब प्रकाश की दिशा में परिवर्तन को प्रकाश का अपवर्तन कहते हैं |

 प्रकाश के अपवर्तन के दो नियम निम्नलिखित हैं :-
  i).  आपतित किरण,  अपवर्तित  किरण  तथा दोनों माध्यमों को पृथक करने वाले पृष्ठ के आपतन बिंदु पर अभिलंब,   सभी एक ही तल में होते हैं |
  ii).  आपतन कोण की ज्या( sine ) तथा अपवर्तन कोण की ज्या (sine) का अनुपात स्थिर होता है |

19).  आवर्धन से क्या समझते हैं ?
Ans.  प्रतिदिन की ऊंचाई और बिंबम की ऊंचाई के अनुपात को आवर्धन कहते हैं |
 आवर्धन  = प्रतिबिम्ब की ऊंचाई / बिम्ब की ऊंचाई


20). अपवर्तनांक की परिभाषा लिखें |
Ans.  किसी पारदर्शी माध्यम का अपवर्तनांक प्रकाश की निर्वात में चाल तथा प्रकाश की इस माध्यम में चाल का अनुपात होता है |  इसे द्वारा सूचित किया जाता है |
इसलिए n = निर्वात में प्रकाश की चाल/माध्यम में प्रकाश की चाल

21). लेंस से क्या समझते हैं ?
Ans.  दो सतहों  से घिरा किसी पारदर्शी पदार्थ का एक टुकड़ा जिसका कम से कम एक सतह वक्रित हो लेंस कहलाता है |

22). उत्तल लेंस तथा अवतल लेंस में अंतर लिखें |
Ans.  उत्तल लेंस तथा अवतल लेंस में निम्नलिखित अंतर है :-
 उत्तल लेंस :-
     i).  यह बीच में मोटा तथा किनारे पर पतला होता है |
     ii).  इसमें किरण अभिसारी होती है
     iii). इसमें वास्तविक तथा आभासी दोनों प्रतिबिंब बनते हैं |

 अवतल लेंस :-
     i).  यह बीच में पतला तथा किनारे मोटा होता है |
     ii).  इसमें किरणें अपसरित  होती है |
     iii).  इसमें केवल आभासी प्रतिबिंब बनता है |

23).  उत्तल लेंस को अभिसारी तथा अवतल लेंस को अपसारी लेंस क्यों कहा जाता है ?
Ans.  उत्तल लेंस को अभिसारी लेंस इसलिए कहते हैं क्योंकि मुख्य अक्ष के समांतर चलने वाली प्रकाश की किरणें लेंस से अपवर्तन होने के बाद एक बिंदु ( फोकस ) पर मिलती है |
    अवतल लेंस को अपसारी लेंस इसलिए कहते हैं क्योंकि लेंस से अपवर्तित होने होने के बाद प्रकाश की किरने किसी बिंदु ( फोकस ) से फैलती हुई प्रतीत होती है |

24). लेंस की क्षमता से क्या समझते हैं ?
Ans.  लेंस की क्षमता उसकी फोकस दूरी के व्युत्क्रम द्वारा व्यक्त किया जाता है और इसका SI मात्रक डाइआप्टर होता है इसे द्वारा निरुपित करते हैं |

25). किसी लेंस की 1  डाइआप्टर क्षमता को परिभाषित करें |
Ans. 1 डाइआप्टर उस लेंस की क्षमता है जिसकी फोकस दुरी 1 मीटर हो |


अगर आपको यह प्रश्न और हल अच्छा लगे तो आप इस पोस्ट को अपने मित्रो के पास जरुर भेजे Ncert class 10 science solution in hindi chapter 10 इस पोस्ट में वैसे प्रश्नों के बारे में मैं बताया हूँ जिसका आने का सम्भावना बहुत अधिक होता है तो अगर आप दसवी में अच्छा अंक लाना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को शुरू से लेकर लास्ट तक जरुर पढ़िए Ncert class 10 science solution in hindi chapter 10



Previous Post Next Post