मनुष्य में आक्सीजन तथा कार्बनडाइआक्साइड का परिवहन कैसे होता है ?



प्रश्न :- मनुष्य में आक्सीजन तथा कार्बनडाइआक्साइड का परिवहन कैसे होता है ?


उतर :-

 मनुष्य एक जटिल शारीरिक रचना वाला विकसित प्राणी है | अतः साधारणतः विसरण क्रिया द्वारा इसके फेफड़े के बिच गैसीय विनिमय संभव नहीं है | कूपिका भित्तियों में पाए जाने वाले रक्त का श्वसन वर्णक हिमोग्लोबिन आक्सीजन से संयुक्त होकर आक्सी हिमोग्लोबिन बन जाता है | यह आक्सीजन को स्थल तक छोड़कर पुनः हिमोग्लोबिन बन जाता है |
   यह रक्त में घुलित कार्बन डाइआक्साइड को  भी लाकर कुपिकाओं में छोड़ता है | फेफड़ो के पिचकने पर कार्बन डाइआक्साइड श्वतः बाहर निकल जाती है | यदि हमारे शरीर में हिमोग्लोबिन नहीं होता तो फेफड़े से फिर तक आक्सीजन लगभग 3 वर्षो में पहुँच पाती |

हिमोग्लोबिन + आक्सीजन --- आक्सी हिमोग्लोबिन
हिमोग्लोबिन + कार्बनडाइआक्साइड ---- कार्बोक्सी हिमोग्लोबिन



इन्हें भी देखें -


Previous Post Next Post