पचे हुए भोजन को अवशोषण करने के लिए क्षुद्रांत्र को कैसे अभिकल्पित किया गया है ?



प्रश्न :- पचे हुए भोजन को अवशोषण करने के लिए क्षुद्रांत्र को कैसे अभिकल्पित किया गया है ?


उतर :-

क्षुद्रांत्र की आतंरिक भित्ति पर असंख्य रंसाकुर पाए जाते हैं | इनमे रक्त वाहिकाओं एवम लिम्फ वाहिनी का जाल बिछा होता है | विसरण क्रिया द्वारा भोजन का प्रोटीन, ग्लोकोज, खनिज, विटामिन इत्यादि रक्त में शोख लिए जाते हैं वसीय अम्लों एवम ग्लिसरॉल का अवशोषण लिम्फ वाहिनी में होता है |
उपर्युक्त के अतिरिक्त क्षुद्रांत्र की संकुचन और अनुशिथिलन की गति भी भोजन के अवशोषण में एक सीमा तक अवश्य सहायक होती है |


इन्हें भी देखें



Previous Post Next Post