मनुष्य में दोहरा परिसंचरण की व्याख्या करें

प्रश्न :- मनुष्य में दोहरा परिसंचरण की व्याख्या करें

उतर :-

मनुष्य में रक्त को ह्रदय से होकर दो बार गुजरना पड़ता है | इसे दोहरा परिसचरण कहते हैं |
 शिराओं द्वारा शरीर के विभिन्न भागो से अशुद्ध रक्त ह्रदय में लाया जाता है | ह्रदय उसे शुद्ध होने के लिए अलग मार्ग से फुफ्फुस में भेज देता है जहाँ कार्बन डाइआक्साइड बाहर विसरित हो जाती है और आक्सीजन रक्त में आ जाती है | इसप्रकार आक्सिजनित युक्त रक्त पुनः ह्रदय में आता है जिसे शरीर के अंगो में पहुँचाने के लिए पंप कर दिया जाता है |



इन्हें भी देखें -


Previous Post Next Post