यकृत, अग्नाशय और पितरस के दो-दो कार्य लिखे |



प्रश्न :- यकृत, अग्नाशय और पितरस के दो-दो कार्य लिखे |


उतर :-

यकृत के कार्य :-

i). यकृत की कोशिकाए पित का स्राव करती है |
ii). अतिरिक्त ग्लोकोज ग्लाइकोजन के रूप में परिवर्तित करके यकृत में संग्रह किया जाता है |
अग्नाशय के कार्य :-
i). यह अग्नाशयिक रस का संश्लेषण संग्रह करता है जिसमे महत्वपूर्ण प्रोटीन वसा एवम कार्बोहाईड्रेट पाचक एंजाइम होते हैं |
ii). यह इंसुलिन और ग्लूकागान जैसे महत्वपूर्ण हार्मोन का स्राव करता है |

पितरस के कार्य :-

i). अमाशय से आये भोजन के अम्लीय प्रभाव को क्षारीय बनाता है |
ii). यह आंत की दीवारों को क्रमाकुंचन के लिए उत्तेजित करता है |



इन्हें भी देखें

Previous Post Next Post